आजिजी का अनोखा नमूना islam facts
islamicedu for you
islamic story in hindi 2019

हज़रत जुन्नुन मिसरी रहमतुल्लाहि अलयहि नाम के एक अल्लाह के बड़े वली थे ।

एक मरतबा उनके शहर में कहत पड़ा ।
बारिश की मौसम थी लेकिन बरसात बिल्कुल नहीं पड़ा । लोग परेशान थे । सख्त तकलीफ में थे और सोच रहे थे कि बरसात के लिये क्या किया जाए । इतने में एक आदमी ने कहा . . .  " हमारे शहर में अल्लाह के एक मकबूल बंदे है  उनका नाम हज़रत जुन्नुन मिसरि रहमतुल्लाहि अलयहि है । उन के पास जा कर बरसात की दुआ कराए ।

 इन्शा अल्लाह उन की दुआ की बरकत से जरुर बारिश होगी । " लोगों को उस आदमी की बात पसंद आ गई । फिर कुछ लोग हज़रत जुन्नुन मिस्री रहमतुल्लाहि अलयहि के पास आऐ और कहा . . .  “ हज़रत ! आप देख रहे है बारिश का जमाना है लेकिन बरसात का नामोनीशान नहीं है ।

 लोग बारिश न आने की वजह से परेशान है । लोगों की जबाने और गलें पानी के बगैर सुख रहे हैं । जानवरों के पीने के लिये भी पानी नहीं है । खेतों को पीलाने के लिये पानी नहीं मिलता । आप अल्लाह से दुआ करो कि वह हम पर बारिश बरसाए और हमारी यह तकलीफ जल्द दूर फरमाए ।

 " उन की बात सुनकर हजरत जुन्नुन मिसरी रहमतुल्लाहि अलयहि को बहुत दुःख हुआ । और क्यों दु : ख न हो ! आप तो अल्लाह के सच्चे वली थे । लोगों के दर्द दिल में रखनेवाले थे । लोगों की तकलीफ को अपनी तकलीफ समज़नेवाले थे।

 इसलिये आपने लोगों को तसल्ली देते हुए कहा . . . " मैं तुम्हारे लिये दुआ तो इन्शा अल्लाह ज़रुर करुंगा । लेकिन मेरी एक बात ध्यान से सुनो . . . कुर्आन मजीद में अल्लाह रब्बुल इज्जत फरमाते है।

कि दुनिया में जो कुछ तुमको मुसीबत पहोंचती है वह तुम्हारे गुनाहों की वजह से आती है । इसलिये बरसात का न होना यह भी हमारे गुनाहों की नहुसत है ।

बुरे आ'माल - गुनाहों की वजह से अल्लाहने बारिश को रोक लिया है । " फिर आपने आगे फरमाया . . . " अब हमें यह देखना है कि हम में सबसे ज्यादा गुनेहगार कौन है । जब मैं अपने आप की तरफ देखता हूं तो एसा लगता है कि सब से बड़ा गुनेहगार मैं उही हूं ।

 पूरे शहर में मुजसे बड़ा गुनेहगार कोई नहीं है । और मेरी वजह से बारिश रुकी हुई है । इसलिये मैं यह शहर छोडकर चला जाता हूं । ता ' के अल्लाह तआला तुम पर बारिश बरसाए ।

कैसी आजिज़ी ! कैसी अपने आप की फिकर !
बेशक अव्लिया अल्लाह की यही शान और पहचान हुवा करती है ।

➥FOR MORE ISLAMIC STORY
➥FOLLOw BY EMAIL