आजिजी का अनोखा नमूना(Hindi) islam facts

आजिजी का अनोखा नमूना islam facts
islamicedu for you
islamic story in hindi 2019

हज़रत जुन्नुन मिसरी रहमतुल्लाहि अलयहि नाम के एक अल्लाह के बड़े वली थे ।

एक मरतबा उनके शहर में कहत पड़ा ।
बारिश की मौसम थी लेकिन बरसात बिल्कुल नहीं पड़ा । लोग परेशान थे । सख्त तकलीफ में थे और सोच रहे थे कि बरसात के लिये क्या किया जाए । इतने में एक आदमी ने कहा . . .  " हमारे शहर में अल्लाह के एक मकबूल बंदे है  उनका नाम हज़रत जुन्नुन मिसरि रहमतुल्लाहि अलयहि है । उन के पास जा कर बरसात की दुआ कराए ।

 इन्शा अल्लाह उन की दुआ की बरकत से जरुर बारिश होगी । " लोगों को उस आदमी की बात पसंद आ गई । फिर कुछ लोग हज़रत जुन्नुन मिस्री रहमतुल्लाहि अलयहि के पास आऐ और कहा . . .  “ हज़रत ! आप देख रहे है बारिश का जमाना है लेकिन बरसात का नामोनीशान नहीं है ।

 लोग बारिश न आने की वजह से परेशान है । लोगों की जबाने और गलें पानी के बगैर सुख रहे हैं । जानवरों के पीने के लिये भी पानी नहीं है । खेतों को पीलाने के लिये पानी नहीं मिलता । आप अल्लाह से दुआ करो कि वह हम पर बारिश बरसाए और हमारी यह तकलीफ जल्द दूर फरमाए ।

 " उन की बात सुनकर हजरत जुन्नुन मिसरी रहमतुल्लाहि अलयहि को बहुत दुःख हुआ । और क्यों दु : ख न हो ! आप तो अल्लाह के सच्चे वली थे । लोगों के दर्द दिल में रखनेवाले थे । लोगों की तकलीफ को अपनी तकलीफ समज़नेवाले थे।

 इसलिये आपने लोगों को तसल्ली देते हुए कहा . . . " मैं तुम्हारे लिये दुआ तो इन्शा अल्लाह ज़रुर करुंगा । लेकिन मेरी एक बात ध्यान से सुनो . . . कुर्आन मजीद में अल्लाह रब्बुल इज्जत फरमाते है।

कि दुनिया में जो कुछ तुमको मुसीबत पहोंचती है वह तुम्हारे गुनाहों की वजह से आती है । इसलिये बरसात का न होना यह भी हमारे गुनाहों की नहुसत है ।

बुरे आ'माल - गुनाहों की वजह से अल्लाहने बारिश को रोक लिया है । " फिर आपने आगे फरमाया . . . " अब हमें यह देखना है कि हम में सबसे ज्यादा गुनेहगार कौन है । जब मैं अपने आप की तरफ देखता हूं तो एसा लगता है कि सब से बड़ा गुनेहगार मैं उही हूं ।

 पूरे शहर में मुजसे बड़ा गुनेहगार कोई नहीं है । और मेरी वजह से बारिश रुकी हुई है । इसलिये मैं यह शहर छोडकर चला जाता हूं । ता ' के अल्लाह तआला तुम पर बारिश बरसाए ।

कैसी आजिज़ी ! कैसी अपने आप की फिकर !
बेशक अव्लिया अल्लाह की यही शान और पहचान हुवा करती है ।

➥FOR MORE ISLAMIC STORY
➥FOLLOw BY EMAIL

Post a Comment

0 Comments